पर्यावरण

दीवाली के पहले हाईकोर्ट ने पटाखों पर बैन लगाते हुए लोगों से ग्रीन पटाखों इस्तेमाल करने की अपील की है। पटाखे जलाने के बाद पर्यावरण और हमारे शरीर को पहुंच रहे नुकसान के कारण कोर्ट ने ये फैसला लिया है। प्रदूषण के कारण लोगों में कई तरह के बीमारी का संख्या बढ़ी है।


ग्रीन पटाखों होता क्या है?

ग्रीन पटाखों का जोर पिछले 2-3 सालों में बढ़ा है। पर्यावरण और सेहत को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने लोगों को ग्रीन पटाखों के लिए जागरुक करना शुरु किया है। ग्रीन पटाखों पर नार्मल पटाखों की तरह ही होते हैं लेकिन इससे प्रदूषण कम होता है। इन्हें बनाने में किसी प्रकार का एल्यूहमिनियम, बेरियम, पोटेशियम-नाइट्रेट और कार्बन का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। अगर आप ग्रीन पटाखों का इस्तेमाल करते हैं तो 30 से 40 फीसदी प्रदूषण कम होता है। पर्यावरण को बचाने के लिए सरकार और प्रशासन अपनी ओर से प्रयास कर रहें हैं।


ग्रीन पटाखों से कौन सी गैस निकलती?


ग्रीन पटाखों से बिल्कुल भी प्रदूषण नहीं होगा ये कहना तो गलत है। लेकिन सामान्य पटाखों से 40 से 50 प्रतिशत प्रदूषण जरुर होता है। ग्रीन पटाखों में इस्तेमाल होने वाले मसाले बहुत हद तक सामान्य पटाखों से अलग होते हैं। इससे निकलने वाले गैस भी कम हानिकारक होते हैं। सामान्य पटाखों के जलाने से भारी मात्रा में नाइट्रोजन और सल्फ़र गैस निकलती है, लेकिन उनके शोध का लक्ष्य इनकी मात्रा को कम करना था। ग्रीन पटाखों में इस्तेमाल होने वाले मसाले बहुत हद तक सामान्य पटाखों से अलग होते हैं। कई केमिकल का इस्तेमाल न होने की वजह से ग्रीन पटाखे केवल सिर्फ सफेद और पीली रोशनी ही देंगे।

ग्रीन पटाखों में वैरायटी


पूरे देश में ग्रीन पटाखों को लेकर जागरुकता फैलाई जा रही है। इन पटाखों में कई तरह के कैटेगरी आते है। सामान्य पटाखों के मुकाबले इन पटाखों की कीमत ज्यादा होती है। अगर कैटेगरी की बात करें तो इसमें फुलझड़ी, फ्लावर पॉट,स्काई शॉट जैसे पटाखे हैं। उन्हें भी अन्य पटाखों की तरह ही माचिस से जलाया जाता है। यह खुशबू वाले भी आते हैं।

Also Read – त्योहार पर पडड़ा मंहगाई का असर, बाजारों में लोग खरीददारी में कर रहे कटौती

By Nidhi Savya

Talented and immensely creative journalist with a commitment to high-quality research and writing.  Dedication to sound investigative research methods and a strong desire to know the truth of the matter. Currently walking on the path of gaining experience in the field of journalism. Breaking News Reporter- Working in Kashish News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *