Tag: हिंदी दिवस 2021 पर कविता

14 सितंबर/ हिंदी दिवस (कविता)हिंदी की स्थिति

14 सितंबर/ हिंदी दिवस (कविता)हिंदी की स्थिति घर की बेटी ,-बहन सा बुलाईये जाती,कुछ दिन के बाद पराई हो जाती। सिसकती बिलखती है आंँसू बहाती,इसकी यह व्यथा है नज़र क्यों…